छत्तीसगढ़

कमीशन का खेल: नक्सल सहयोगी की कंपनी को डेढ़ करोड़ का ठेका, सीएम से शिकायत

कमीशन का खेल: नक्सल सहयोगी की कंपनी को डेढ़ करोड़ का ठेका, सीएम से शिकायत

Date : 11-Jan-2021

खैरागढ़। नक्सल कनेक्शन की पुष्टि के बाद लैंडमार्क रायल कंपनी को ब्लैक लिस्टेट करने की प्रक्रिया चल रही है। कंपनी के सडक़ सहित अन्य निर्माण कार्यो को छीनने और अधूरे पड़े निर्माण कार्यो के लिए दोबारा टेंडर बुलाने की तैयारी चल रही है। शहर में भी उक्त कंपनी को करीब डेढ़ करोड़ रूपये ठेका मिला हुआ है। जिसे टेंडर में अनियमितता कर लैंडमार्क रायल कंपनी को फायदा पहुंचाने का आरोप लग रहा है। यह आरोप कांग्रेस के शहर प्रवक्ता समीर कुरैशी ने लगाए है। वही तत्कालीन सीएमओ और कतिपय जनप्रतिनिधियों पर आरोप लगाते हुए सीएम से शिकायत की है। साथ ही उक्त कंपनी से काम छीनकर फिर से टेंडर बुलाने की मांग की है। समीर कुरैशी ने आरोप लगाया है कि नगर पालिका के तहत करीब एक करोड़ 44 लाख 36 हजार की लागत से डॉ बीआर आंबेडकर सर्व समाज मांगलिक भवन का निर्माण होना है। जिसका ठेका तत्कालीन खैरागढ मुख्य नगर पालिका अधिकारी पूजा पिल्ले व कतिपय प्रतिनिधियों की मिलीभगत से नक्सल सहयोगी ब्लैक लिस्टेड लैंडमार्क रायल कंपनी को सीएसआर से 2.5 प्रतिशत कम दर में काम दिया गया है। जबकि वर्तमान में खैरागढ़ सहित आस-पास के डिविजन में इस तरह के निर्माण कार्य का ठेका करीब 18 से 20 प्रतिशत कम दर पर लेकर ठेकेदारों द्वारा निर्माण कार्य कराए जा रहे है। समीर का कहना है कि उक्त कार्य का सीएसआर से 2.5 प्रतिशत कम दर में स्वीकृति प्रदान कर शासन को करीब 25 लाख का नुकसान पहुंचेगा। 
नक्सल सहयोगी का आरोपी संचालक
कांग्रेस के शहर प्रवक्ता समीन कुरैशी का कहना है कि इस निर्माण कार्य का ठेका लेने वाली लैडमार्क रायल कंपनी वर्तमान में नक्सल सहयोगी होने के कारण ब्लैक लिस्टेड है। वही इस कंपनी के नक्सल सहयोगी होने का मामला सामने आने पर व मामले की पुष्टि होने पर कंपनी के मालिक पर एफआईआर दर्ज होने के बाद कोहका-औंधी, मानपुर-मोहला व कांकेर क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग व पीएमजेएसवाय द्वारा उक्त कंपनी के करीब 160 करोड़ के निर्माण कार्य का ठेका निरस्त कर, उक्त कंपनी को ब्लैक लिस्टेड करने की कार्यवाही प्रारंभ की गई थी। यहीं वजह है कि समीर कुरैशी ने सीएम से शिकायत करते हुए उक्त संदिग्ध गतिविधि में शामिल कंपनी का उक्त निर्माण कार्य का ठेका निरस्त कर कार्यादेश रोक कर पुन: निर्माण कार्य के लिए निविदा आमंत्रित करने की मांग की है।

Related Topics