राजनीति

सांसद पांडेय ने फिर दोहराया अपना विवादित बयान, बोले- किसान आंदोलन में दिख रहे खालिस्तान के झंडे

सांसद पांडेय ने फिर दोहराया अपना विवादित बयान, बोले- किसान आंदोलन में दिख रहे खालिस्तान के झंडे

Date : 18-Jan-2021
खैरागढ़। सांसद संतोष पांडेय ने किसान आंदोलन को लेकर दिए गए विवादित बयान को फिर से दोहराया है। उन्होंने फिर से कहा कि दिल्ली की सीमाओं में चल रहे किसान आंदोलन में सिंघु बार्डर पर खालिस्तान के झंडे दिख रहे हैं। वही किसानों के आंदोलन को हाईजेक कर लिया गया है।
साथ यह पूछा कि क्या इसे किसान आंदोलन कहेंगे? एक पंचांग विमोचन में खैरागढ़ रेस्ट हाउस पहुंचे सांसद संतोष पांडेय ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान यह विवादित बयान दिया है। यहां उन्होंने कहा कि मैंने खैरागढ़ में जो बयान दिया था, उस पर अडिग हूं। वही फिर कहा रहा हूं, सिंघु बॉर्डर में खालिस्तान के झंडे दिख रहे हैं। जिसमें बेअंत सिंह के हत्यारे का फोटो लगा हुआ है। वही बरबरा राव को रिहा कराने नारे लग रहे हैं। साथ ही उमर खालिद और सर्जिल इमाम को रिहा कराने नारे लग रहे हैं। क्या है ये? क्या इसे किसान आंदोलन कहेंगे? सांसद संतोष पांडेय ने कहा कि यही मैंने उस दिन भी कहा था और आज फिर कह रहा हूं। किसानों की भीड़ में उनके आंदोलन को हाइजेक कर लिया गया है। यहीं वजह है कि अब देश को सतर्क रहना चाहिए। जिस प्रकार एक छोटे से कोने में साहिन बाग हुआ। आज दिल्ली के चारों तरफ ये चल रहा है। आगमी गणतंत्र दिवस को देखते हुए सभी प्रकार की मंशा से हमको अलर्ट रहने की जरूरत है।
 

दस दिन पहले दिया था बयान
सांसद संतोष पांडेय ने दस दिन पहले यानी 9 जनवरी को भाजपा की बैठक में दिल्ली के आंदोलन में खालिस्तानी बैठने और उन्हें फारेन फंडिंग होने का दावा किया था। जिसे फिर से दोहराया गया है। इस बयान के बाद जिलेभर में कांग्रेसियों के अलावा अन्य राजनीतिक पार्टियों में सांसद के बयान को पूरजोर विरोध किया था। वही सर्दी के मौसम राजनीतिक फिजा गरमा गई थी। साथ ही विरोध स्वरूप जिलेभर में सांसद पांडेय का पुतला दहन किया गया था।  

Click- जो किसान बोना जानता है, वह काटना भी जानता है - लखनलाल साहू
 
 

Related Topics