अपराध

बौखलाहट में ग्रामीणों को निशाना बना रहे नक्सली

बौखलाहट में ग्रामीणों को निशाना बना रहे नक्सली

Date : 20-Jan-2021

राजनांदगांव। जिले में बीते साल तीन नक्सली मुठभेड़ हुआ, जिसमें पुलिस ने चार नक्सलियों को ढेर किया। वहीं तीन नक्सलियों को गिरफ्तार और दो नक्सलियों ने सरेंडर भी किया। छह से अधिक हथियार व तीन अाइइडी बम बरामद किए गए। मुठभेड़ में मारे गए साथियों के मौत का बदला लेने नक्सली बौखला गए हैं। इसी बौखलाहट में नक्सली अब निर्दोष ग्रामीणों को पुलिस का मुखबिर बताकर निशाना बना रहे हैं। अभी हाल ही में नक्सलियों ने मानपुर परदोनी गांव के पूर्व सरपंच की हत्या की है। खबर है कि इस घटना के बाद नक्सली महाराष्ट्र बार्डर की ओर भाग गए हैं। या यू कहें कि नक्सलियों का रूख अब बागनदी-बोरतलाव व गापापार भावे जंगल की ओर हो गया है। इस ओर नक्सलियों की गतिविधि भी देखी गई है, जिसको लेकर पुलिस ने उन ग्रामीणों को चौकन्ना कर दिया है, जिनके नाम नक्सलियों ने अपने हिट लिस्ट में रखे हैं। ज्ञात हो कि बीते 15 दिसंबर को नक्सलियों कान्हा राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में बैठक ली थी, जिसमें पुलिस की मुखबिरी करने के आरोप में जिले के 20 से 25 ग्रामीणों का नाम हिट लिस्ट में रखा है। इन ग्रामीणों को सुरक्षा देने की मांग भी उठ चुकी है। जो पुलिस ने बड़ी चुनौती बन गई है। 

बड़ी वारदात की तैयारी में नक्सली 
खबर है कि नक्सली अपने टेक्टिकल काउंटर आफेंसिव कैंपेन के 20 वीं वर्षगांठ की खुशी में जिले में भी बड़ी वारदात करने की तैयारी में है। बताया गया कि हर साल नक्सली फरवरी से अप्रैल और जुलाई से नवंबर के बीच में अपने इस कैंपेन में बड़ी घटना को अंजाम देने तैयारी में रहते हैं। इस कैंपेन की शुरुआत वर्ष 2000 में शुरू की गई थी। इसी की 20 वीं                        वर्षगांठ पर एमएमसी जोन(महाराष्ट्र-मध्यप्रदेश-छग) के नक्सली लीडर बड़ी वारदात की प्लानिंग में हैं। हालांकि पुलिस भी नक्सलियों के मूमेंट पर नजर रखी हुई है। प्रभावित गांवों के अलावा सीमावर्ती क्षेत्रों में पुलिस ने सर्चिंग बढ़ा दी है।  
ग्रामीणाें की सुरक्षा, पुलिस के लिए चुनौती 
नक्सलियों की हिट लिस्ट में मानपुर ढब्बा से मेढ़ा तक करीब 20 से 25 ग्रामीणों का नाम है। पुलिस की मुखबिरी का आरोप लगाकर नक्सलियों ने इन ग्रामीणों के नाम को हिट लिस्ट में रखा है। इसमें से मानपुर क्षेत्र के दो ग्रामीणों की हत्या नक्सली कर चुके हैं। अब जिनके नाम हैं, उन ग्रामीणों को सुरक्षा देना पुलिस के लिए चुनौती बन गई है। हालांकि पुलिस ने ग्रामीणों को पत्र भेजकर गांव से बाहर सर्तक रहने की सलाह दे दी है। 
बागनदी की ओर नक्सलियों का रूख 
मुखबिरी के शक में दो ग्रामीणों की हत्या कर मानपुर क्षेत्र में दहशत फैलाने के बाद नक्सलियों का रूख बागनदी की ओर होने की खबर है। नक्सलियों के हिट लिस्ट में बागनदी क्षेत्र के सीतागोटा-शेरपार के भी ग्रामीणों का नाम है, जिन्हें नक्सली मौत की सजा देने की चेतावनी दे चुके हैं। इसको लेकर पुलिस भी पूरी तरह सर्तक है। पुलिस ने उन ग्रामीणों को भी गांव छोड़कर चौकन्ना रहने कहा है। मानपुर परदाेनी के पूर्व सरपंच मैनूराम सलामे भी नक्सलियों के हिट लिस्ट में थे, जिसके कारण पुलिस ने मैनूराम को पहले ही पत्र भेजकर गांव छोड़ने की सलाह दी थी। पर मैनूराम ने गांव नहीं छोड़ा और बीते 13 जनवरी की रात नक्सलियों ने उसकी हत्या कर दी। इससे पहले भी एक ग्रामीण हत्या नक्सली कर चुके हैं। 

नक्सल गतिविधियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। जिला पुलिस बल के साथ फोर्स के जवान जंगलों में मुस्तैद हैं। आमना-सामना हुआ तो बड़ी कामयाबी पुलिस को मिलेगी। पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ ज्वाइंट आपरेशन भी चला रहे हैं। इसी घेराबंदी की वजह से बौखलाहट में िनर्दोष ग्रामीणों की हत्या की जा रही हैं।   -डी. श्रवण, पुलिस अधीक्षक

Related Topics