अपराध

मुखबिरी के शक में दो ग्रामीणों की हत्या

मुखबिरी के शक में दो ग्रामीणों की हत्या

Date : 27-Jan-2021

राजनांदगांव। गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले नक्सलियों ने मानपुर कोहका क्षेत्र के दो गांव में मुखबिरी के शक पर दो ग्रामीणों की निर्मम हत्या कर दहशत फैला दी है। नक्सलियों ने बीते सोमवार की शाम सात से साढ़े सात बजे के बीच कोहका से लगे कामखेडा पहुंचकर सरपंच शैलेन्द्री बाई मंडावी के ससुर 75 वर्षीय इंदल शाह मंडावी को उठाकर अपने साथ ले गए और फिर गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। इसके महज दो घंटे बाद रात नौ से साढ़े नौ बजे नक्सलियों की एक टुकड़ी कामखेडा से लगे मोरारपानी गांव में 30 वर्षीय धनसाय घावडे की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी। दोनों ही घटना के बाद नक्सलियों ने मृतको के शव को उनके घर के पास छोड़कर पर्चे भी फेंके, जिसमें पुलिस की मुखबिरी करने वालों को सावधान रहने की चेतावनी दी गई है। दोनों गांव में 25 से 30 की संख्या में वर्दीधारी हथियारबंध नक्सली पहुंचे थे। बताया गया कि दोनों ही गांव महाराष्ट्र की सीमा से लगा हुआ है। शायद यहीं वजह है कि सूचना के बाद भी पुलिस मृतको का शव बरामद करने घटनास्थल नहीं जा सकी। पर्चों को भी गांव वाले उठाकर कोहका थाना ले गए, वहीं मृतको के शव को भी गाड़ी की व्यवस्था कर ग्रामीण अपने साथ थाना लेकर पहुंचे। महिनेभर में यह चौथी नक्सली हत्या है। इससे पहले 29 दिसंबर को नक्सलियों ने मानपुर के तुमड़ीकसा के महेश कचलामे की गोली मारकर हत्या की थी। वहीं 13 जनवरी को परदोनी के पूर्व सरपंच मैनुराम की नक्सलियों मे डंडे से पीट-पीटकर निर्मम हत्या की थी। इन ग्रामीणों की हत्या भी नक्सलियों ने पुलिस की मुखबिरी करने के शक में की थी। वहीं 23 जनवरी को नक्सलियों ने कोहका-मदनवाड़ा रोड में बैनर व पर्चा फेंककर मुखबिरी करने वालों को चेतावनी दी थी। लगातार हो रही नक्सली वारदात से प्रभावित गांवों के ग्रामीण सहमे हुए हैं। नक्सल सेल के एएसपी जेपी बढई ने कहा कि अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। सीमा से लगे सभी सरहदी गांव और जंगल क्षेत्र में सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

Related Topics