जीवन शैली

लॉकडॉउन में घर में रहने से बढ़ सकती है स्ट्रेस की समस्या, ये टिप्स आएंगे काम

लॉकडॉउन में घर में रहने से बढ़ सकती है स्ट्रेस की समस्या, ये टिप्स आएंगे काम

Date : 14-Apr-2020
केंद्र सरकार ने देशभर में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लॉग डॉउन की मियाद 3 मई तक बढ़ा दी है. लंबे वक्त से से घर में कैद होने की वजह से लोगों में स्ट्रेस (मानसिक तनाव) की समस्या बढ़ सकती है. लॉकडाउन में स्ट्रेस की समस्या से निपटने में ये टिप्स आपके बहुत काम आ सकते है। म्यूजिक, रीडिंग, पेंटिंग- यदि आप लोगों के बीच रहकर अकेला महसूस करते हैं और यहां भी मानसिक अवसाद आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो अच्छी चीजें पढ़ना-लिखना शुरू कर दें. आप चाहें तो पेंटिंग भी कर सकते हैं या फिर अपना पसंदीदा म्यूजिक सुन सकते हैं. ताजी हवा में सांस लेने से आपका दिमाग सही दिशा में दौड़ेगा और आप हर चीज को लेकर हाइपर नहीं होंगे. अकेलेपन में लोगों से मिलने और उनसे बात करने का बड़ा मन करता है. ऐसे में आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोस्तों से कनेक्ट हो सकते हैं. एक्सरसाइज करने से सेहत बनने के साथ तनाव भी कम होता है. एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी से हैपी हार्मोन रिलीज होते हैं, जिसके चलते हमारा तनाव कुछ ही पल में गायब हो जाता है. लेकिन अगर आपके पास एक्सरसाइज का समय नहीं है तो आप दिन में कुछ मिनट तक जरूर टहलें. आप जिस प्रकार का खाना खाते हैं, आपका स्वभाव भी वैसा ही हो जाता है. इसलिए हमेशा हेल्दी खाने का सेवन करें. और आखिर में जो लोग अपनी नींद के साथ समझौता करते हैं, उनकी सेहत को गंभीर रूप से नुकसान पहुंच सकता है. नींद पूरी ना होने की वजह से लोग कई सारी शारीरिक और मानसिक बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं. अगर आप अच्छी नींद लेंगे तो पूरे दिन शरीर उर्जा बनी रहेगी. साथ ही आप अपने काम को सही तरीके से कर पाएंगे और आपका मूड पहले के मुकाबले बेहतर रहेगा. वैसे बता दें, 7 से 9 घंटे की नींद एक इंसान के लिए जरूरी होती है.